HomeHealth Tipsगले मे सूजन के कारण लक्षण घरेलू उपचार | Throat infection in...

गले मे सूजन के कारण लक्षण घरेलू उपचार | Throat infection in hindi

Table of Contents

गले मे सूजन के कारण लक्षण घरेलू उपचार -Throat infection

गले में संक्रमण (throat infection in hindi) होना एक आम बिमारी हो सकती हे बदलते मौसम में काफी लोगो को यह संक्रमण अपना शिकार बनाता है। लेकिन कई बार यह संक्रमण (viral infection) खतरनाक हो सकता हे क्योकि कई बार यह संक्रमण गले की कई खतरनाक रोगों को जन्म देता है। जब किसी व्यक्ति को गले का संक्रमण होता हे जिसके कारण गले में दर्द (throat pain) खराश के कारण कुछ भी खाना मुश्किल हो जाता हे क्या आपको पाता हे गले के संक्रमण (throat infection) आसानी से घरेलू उपचारों से ठिक किया जा सकता है।

गले का संक्रमण क्या है। (What is throat infection)

गले का संक्रमण (throat infection) ऊपरी श्वसन नली में होना बाली एक आम बिमारी हे जिसमे गले में दर्द (gale me dard) होना श्वसन तंत्र का सूजना कुछ भी खाने में दर्द होना पानी पीते भी गले में दर्द होना ये सभी गले के संक्रमण (throat infection) के लक्षण हे ज्यादी ठंडी जीजे खान उनके उपर से कोई गर्म जीज खालेना गन्दा पानी पीना प्रदूषित वातावरण होना क्योकि साँस लेने से भी गले में संक्रमण होता हे इस संक्रमण का पाता जल्द ही चल जाता है। इस लिए इसका उपचार भी जल्द से जल्द शूरू कर देना चहिए

अब नही रहेगी हाई ब्लड प्रेशर की कोई परेशानी | Home Remedies for high blood pressure

गले के संक्रमण के लक्षण (symptoms of throat infection in hindi)

गले में संक्रमण कई कारणों से हो सकता हे सर्दी के कारण गले में दर्द (gale me dard) कुछ भी कहा पाने में अत्यधिक पीड़ा होना गले में सूजन बुखार और खाँसी  टॉन्सिल में सूजन और दर्द। (throat pain) गले का लगातार सूखते रहना गले में निगलने में दर्द जबड़े तथा गर्दन में दर्द का होना कफ आना जुखाम गले में अटका हुआ लगना ये सभी गले के संक्रमण के लक्षण है।

गले संक्रमण के कारण क्या हो सकते है। (What is the cause of throat infection)

  • बैक्टेरियल संक्रमण में यह स्ट्रेपकोकस बैक्टीरिया के कारण होता है।
  • इसके अलावा काली खाँसी के कारण भी गंभीर संक्रमण होता है।
  • डिपथेरिया यह भी एक गंभीर बीमारी है, जो गले को संक्रमित करती है।
  • गले में संक्रमण बैक्टेरियल (Bacterial infection) के कारण हो सकता है।
  • तंबाकू या विडी के कारण गले में इन्फेक्शन हो सकता है।
  • ठन्डी पदार्थ के उपर गर्म (Hot) जिजो का सेबन करने के कारण
  • वातावरण के प्रदुषण के कारण गले में संक्रमण हो सकता है।
  • बैक्टेरियल संक्रमण में यह स्ट्रेपकोकस बैक्टीरिया के कारण होता है।
  • इसके अलावा काली खाँसी  के कारण भी गंभीर संक्रमण होता है।
  • डिपथेरिया यह भी एक गंभीर बीमारी है, जो गले को संक्रमित करती है।

गले के संक्रमण को घरेलू उपचारों से केसे ठिक किया जा सकता हे (Home Remedies for Throat Infection in hindi)

गले के संक्रमण के कई अलग अलग घरेलू उपचार है। जिनके प्रयोग से गले के संक्रमण (throat infection) को ठिक किया जा सकता है। आयुर्वेद में गले के कुछ मुख्य उपचार हे जिनके विषय में निचे बताया गया हे जिनके प्रयोग से गले के संक्रमण को दूर किया जा सकता है।

गर्म पानी का सेवन (Use hot water)

गर्म पानी में काले नमक को घोलकर उसके ग्लारे करने से गले की नसे खुलती हे तथा गले में सूजन कम होती हे और निगलने में कठनाई से राहत मिलती है। कभी कभी गले में अत्यधिक सूजन के कारण कुछ भी खा पाना बहुत कठिन हो जाता हे यहा तक की पानी पीने में भी गले में दर्द (throat pain) उत्पन होता है।

जोड़ो के दर्द का घरेलू उपचार | Joint Pain Home Remedies

मुनक्का से गले के संक्रमण का इलाज (Treatment of throat infection from dry grapes)

throat infection

मुनक्का का उपयोग करके भी गले की सूजन को दूर किया जा सकता हे क्योकि कई बार गले में इन्फेक्शन (throat infection) पेट की कमी के कारण भी होता हे पेट में उत्पन गर्मी से गले में सूजन या छाले उत्पन हो जाते हे इसके लिए 4-5 मुनक्का ले उन्हें काफी देर तक चबाए उनके उपर पानी का सेवन न करे 10-20 मिनट बाद गर्म पानी का सेवन करे इसे गले की खराश ठिक हो जाएगी यह गले के संक्रमण का एक बहुत अच्छा घरेलू उपचार है।

अदरक से करे गले का घरेलू उपचार (Home remedies for throat with ginger)

Throat infection in hindi

अदरक और लौंग में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। एक लौंग को मुँह में रखकर चूसें। गले का रोग के ये बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा अदरक के एक छोटे टुकड़े पर नमक लगाकर मुँह में रखकर चूसे 5-7 मिनट करने के बाद गर्म पानी से गरारे करेएक कप पानी में अदरक उबालकर गुनगुना कर लें। उसमें शहद मिलाकर दिन में दो बार पिएँ। इसे गले का संक्रमण जल्द ही ठिक हो जाएगा

गले के इन्फेक्शन का हल्दी से उपचार (Treatment of throat infection with turmeric)

throat infection

हल्दी एक सबसे बड़ी एंटीसेप्टिक (Antiseptic) के रूप में काम करती हे गले के संक्रमण के हल्दी के प्रयोग से बहुत आसानी से दूर किया जा सकता है। एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर सेबन करने से गले के संक्रमण के साथ साथ पूरे शरीर के इन्फेक्शन को लाभ पहुचाता हे इसके अतरिक्त हल्दी को भूनकर गर्म पानी से उपयोग करने से भी गले के संक्रमण (throat infection) को ख़त्म किया जा सकता है।

पेट के अल्सर को घरेलू उपचारों से करे ख़त्म | Get rid of stomach ulcer with home remedies

शहद से करे गले के संक्रमण का घरेलू  उपचार (Treat throat infection with honey)

शहद का उपयोग गले के संक्रमण में बहुत लाभकारी होता हे यह गले की सूजन और जलन को कम करता है। तथा गले में उत्पन बैक्टेरिया से होने वाले संक्रमण भी शहद दुआर ख़त्म किया जा सकता हे यदि एक चम्मच शहद में हल्का नमक मिलाकर सेबन करने से गले का संक्रमण जल्द ही सही हो जाता है।

नीबू से गले के संक्रमण का उपचार (Treatment of throat infection with lemon)

नीबू एक अम्लीय पदार्थ होता हे जिसका उपयोग संक्रमण के लिए बहुत अच्छा होता हे आधा कफ गर्म पानी में आधा नीबू और एक चम्मच शहद को मिलाकर इसका सेवन दिन में तीन बार करे दो से तीन दिन में गले का संक्रमण जल्द ही सही जो जाता है।

गले के संक्रमण के लिए लहसुन का सेवन फायदेमंद ( Use of garlic for throat infection)

लहसुन गले के संक्रमण (Throat infection) के साथ साथ पेट के लिए भी बहुत लाभकारी होता हे लहसुन की एक पोथी भूनकर मूंह में रखकर चूसने से गले के संक्रमण बहुत जल्द ही ठिक हो जाता है।

गले के संक्रमण से बचने के घरेलू उपचार (home remedies to prevent throat infection)

  • गर्म पानी में नमक डालकर गरारे करने से गले के संक्रमण से आराम मिलता है।
    आधा गिलास गर्म पानी में आधे नींबू का रस और एक चम्मच शहद डालकर पिएँ।
    ग्रीन टी का सेवन करें। इससे गले के संक्रमण से लड़ने में राहत मिलती है।
    लौंग, तुलसी, अदरक और काली मिर्च को पानी में डालकर उबालें। इसमें चायपत्ती डालकर चाय बना कर पिएँ। यह चाय गले में दर्द एवं खराश से जल्दी आराम पहुँचाती है।
    गले में संक्रमण होने पर दिन में दो-तीन बार सौंफ को चबाकर खाएँ।
    4-5 काली मिर्च के साथ दो बादाम पीसकर खाने से आराम मिलता है।
    गले के संक्रमण से बचने के लिए खान पान (Diet to avoid throat infection)
  • गले के संक्रमण के समय अपने खान – पान पर ध्यान देना अति आवश्यक है। क्योकि कई बार गले में संक्रमण (Throat infection) ज्यादा तीखा या मसालेदार खाने के कारण हो जाता है। इस लिए गले में दर्द के समय आपका खान – पान केसा होना चाहिए
  • CRP बढने के लक्षण कारण और घरेलू उपाय
  • पानी में गर्म पानी का उपयोग करना चाहिए
    ज्यादा तीखा या मसालेदार नहीं खाना चाहिए
    चाय में अदरक का सेवन करे
    गर्म पानी में काले नमक को डालकर गरारे करे

यदि इन चार बातो को ध्यान में रखते हे तो गले का इन्फेक्शन दो से तीन दिन में ही ठिक हो जाएगा लेकिन ठिक होने के कुछ दिन तक यह प्रकिर्या चालू रखे

गले का सक्रमण घरेलू उपचार से कितने दिन में ठिक हो जाता हे (Throat infection is cured in how many days with home remedies)

गले का संक्रमण एक आम इन्फेक्शन होता हे जो की अनियमित खान पान या बदलते मोसम के कारण हो जाता है। जो की घरेलू उपचार से दो से तीन दिन में ठिक हो जाता है।

गले के संक्रमण को कैसे ठीक किया जाता है? (How are throat infections treated?)

गले का संक्रमण ऊपरी श्वसन तंत्र में होने बाला एक रोग हे , इसलिए इसमें कफ और वात का मुख्यतः कारण होता है। आयुर्वेदीय उपचार द्वारा इन दोषों के असंतुलन को संतुलित किया जा सकता है। इसके लिए व्यक्ति को खान-पान एवं परहेज का विशेष ध्यान रखना चाहिए। आयुर्वेद केवल लक्षणों को ही नहीं शरीर के अन्य दोषों को भी प्राकृतिक रूप से  रोग को पूण रूप से ठिक किया जा सकता हे

गले में संंक्रमण होने पर डॉक्टर से कब सम्पर्क करना चाहिए?(When to Contact a Doctor)

यदि गले में दर्द एवं खराश अधिक हो, और घरेलू उपचार करने पर भी आराम नहीं मिल रहा हो इसके साथ ही 4-5 दिन से ज्यादा हो जाए तो यह एक गम्भीर बिमारी के लक्षण हो सकते है। तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए, क्योंकि यह उग्र वायरल या बैक्टेरियल संक्रमण का संकेत हो सकता है। उचित उपचार ना लेने पर व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार हो सकता है।

Health Banay
Health Banay
On HealthBanay, you get information related to health Ayurvedic Remedies Home Remedies Homeopathy Treatment
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here