HomeHomeopathyगले और छाती में जमे हुए कफ को तुरंत बहार निकाले होम्योपैथी...

गले और छाती में जमे हुए कफ को तुरंत बहार निकाले होम्योपैथी उपचार से -Homeopathy Remedies to Remove Throat Cough

बलगम निकालने की होम्योपैथी उपचार-Homeopathic treatment for mucus removal

अगर आपको छाती और गले में जकडन या कुछ जमा हुआ महसूस हो या साँस लेने में परेशानी महसूस हो तो समझ लिजिए की ये सभी लक्षण कफ जमा होने के हैं। यदि इस कफ का जल्दी से कोई उपचार नहीं किया गया तो यह आगे चलकर एक बहुत बड़ी बीमारी का रूप ले सकता हैं। जिसके चलते गले में infection फेफड़ो का कमजोर होना साँस फूलना जेसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता हैं। लेकिन समय रहते ही कफ को जड़ से खत्म किया जा सकता हैं। वो भी केवल एक होम्योपैथी उपचार के दुवारा

गले में बार बार कफ क्यों बनता है – Why does phlegm occur repeatedly in the throat

अक्सर सर्दी-खांसी, जुकाम या अन्य कई कारणों से गले में कफ जमा होना शुरू हो जाता हैं। कई बार यह वायरल फ्लू और ज्यादा बहार का खाना खाने से गले में कफ बने लगता हे तथा यह खांसी के साथ बहार आने लगता हैं। कई बार देखा जाता हे की कुछ व्यक्तयो को कई चीजो से एलर्जी होती हे और वे व्यक्ति उन जिजो के संपर्क में आ जाते हे जिसके परिणाम सरूप कफ बने लगता हैं। ज्यादा समय कफ रहने से फेफड़ो से जुडी कई बीमारी infection होने शुरू हो जाते हैं।

त्वचा इन्फेक्शन का अचूक होम्योपैथी उपचार

छाती में कफ जम जाए तो क्या करें-What to do if phlegm accumulates in the chest

होम्योपैथी उपचार

जब छाती में कफ जमने लगता तब साँस लेने में तकलीफ और सुखकी खांसी शिने में दर्द जसी समस्या का समाना करना पड़ता हैं। इस कफ को निकालने के कई उपचार होते हैं। लेकिन होम्योपैथी उपचार में सबसे तेज और बहुत effective medicine दबाई हे जिसके बारे में आपको पता होना बहुत जूरी हैं। जिसके नाम हे Aspidosperma mother tincture यह दबाई सुखी खांसी साँस लेने में परेशानी और फेफड़ो से जुडी समस्यों का निवारण करने में बहुत ही उपयोगी हैं। इसका नियमित इस्तेमाल करने से छाती में जमा हुआ कफ बहुत जल्दी साफ हो जाता हे और आपको पता भी नही चलेगा

Aspidosperma को केसे उपयोग करे ?

होम्योपैथी उपचार करना बहुत ही आसन होते हैं। और ये आयुर्वेद से जल्दी काम करते आयुर्वेद और होम्योपैथी उपचार में कोई ज्यादा अन्तर नहीं होते ये दोनों उपचार ही रोग को पूर्ण रूप से खत्म कर सकते हैं। अब बात करते हे की Aspidosperma को कसे उपयोग करना हैं। ये होम्योपैथी दबाई आपको किसी भी Homeopathy Store में बहुत ही आसानी से मिल जाएगी आपको यह 30ml में mother tincture में लेकर आनी हे यह आप किसी भी company की लेकर आ सकते हैं। इसकी 20 -20 बूंद हलके गर्म पानी में सुबह+दोपहर+शाम उपयोग में लाए दो से तीन दिन में ही आपको असर दिखना शुरू हो जाएगा इस दबाई का उपयोग आपको एक महीने से दो माह तक करना होगा

खान -पान का ध्यान – Diet Care

खान – पान का ध्यान देना बहुत ही जरुरी होता हे क्योकि आपके गलत खान पान के कारण ही आपको ये सभी परेशानियो का सामना करना पड़ता हैं। जेसा की ज्यादा मसालेदार या ज्यादा तेलिय पदार्थ और ठंडा गर्म खाने से ही कफ की उत्पत्ति होती हैं। जब आप होम्योपैथी उपचार कर रहे हो तब इन सभी जिजो को ध्यान में जरुर रखे यदि आपको कफ की समस्या अत्याधिक हे तब आप दिन में हलके गर्म पानी का उपयोग करे जिसके कारण कफ बहुत जल्दी ही साफ होजाएगा

डॉक्टर से कब सम्पर्क करना चाहिए – When should I contact the doctor

यदि तीन से चार दिन के उपचार करने के बाद भी कोई आराम ना दिखाई दे और समस्या और बदती जाए तब जल्द ही आपको अपने डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए

यदि हमारे दुबारा दी गई जानकारी में आपको कोई परेशानी होती हे तब अप हमसे ईमेल और comment के माद्यम से बता सकते हे यदि आपको कुछ पूछना हो तब आप हमें contact कर सकते हैं।

Health Banay
Health Banay
On HealthBanay, you get information related to health Ayurvedic Remedies Home Remedies Homeopathy Treatment
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here